how to eliminate stomach gas: पेट में बैक्टीरिया बनाता है गैस

how to eliminate stomach gas: (बैक्टीरिया) आयुर्वेद में सेहत के तीन दोष बताए गए हैं- पित्त, कफ और बात बात यांनी वायु या गैस आयुर्वेद कहता है कि शरीर में होने वाली सभी बीमारियों के मूल में यही तीन दोष हैं।

Table of Contents

how to eliminate stomach gas: आंतों में बनता है प्रेशर, ऐसी स्थिति में भूल कर भी न खाएं ये चीजें

बदलते लाइफ स्टाइल में लोग बाहर का और अनहेल्दी खाना ज्यादा खाने लगे हैं। जिसके चलते बड़ी आबादी गैस की समस्या से परेशान है। लेकिन गैस की ये समस्या सिर्फ पेट के लिए ही नुकसानदेह नहीं, ये कई दूसरी बीमारियों का भी कारण बन सकती है।

गर्मी का मौसम आने वाला है। इस मौसम में गैस और कब्ज की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में इन दिनों के लिए सही डाइट और गैस कब्ज हो जाने पर इससे बचने के उपायों का जान लेना जरूरी है।

बैक्टीरिया के चलते पेट में बनती है गैस, बढ़ने पर दूसरे हिस्सों में भी जाती है।

पेट में गैस बनने के प्रॉसेस को समझाते हुए सीनियर फिजीशियन डॉ. विशाल कुमार बताते हैं कि हमारे पेट में दो तरह के बैक्टीरिया होते हैं- गुड बैक्टीरिया और बैड बैक्टीरिया

सामान्य स्थिति में गुड बैक्टीरिया सही मात्रा में गैस पार्टिकल बनाते हैं जो पेट में गए खाने को तोड़ कर पचाने का काम करते हैं।लेकिन कुछ खास तरह के फूड और ड्रिंक्स गैस बनने की दर को बढ़ा देते हैं। जिसके चलते छोटी आंत फूल जाती है और पेट में दर्द होने लगता है।

कई बार गैस ज्यादा होने पर वो शरीर के दूसरे हिस्सों में पहुंच उस जगह को भी प्रभावित करती है। जब हम कुछ ऐसा खाते हैं, जो आसानी से पचने वाला नहीं होता हो उसे पचाने के लिए बॉडी ज्यादा गैस बनाने लगती है।

पेट की थोड़ी भी समस्या हो तो इन चीजों से बना लें दूरी

कई लोगों का पाचन तंत्र इतना मजबूत होता है कि वे कुछ भी पचा लेते हैं। लेकिन आज के समय में ज्यादातर लोगों का पाचन तंत्र उतना मजबूत नहीं कुछ चीजें ऐसी है जो पाचन तंत्र पर जरूरत से ज्यादा दबाव डालती हैं और उससे गैस कब्ज की समस्या होती है।

दूध, प्याज, मूली, बैंगन, खीरा, बीस, कटहल, राजमा, अरबी, खट्टे फल, कैफीन (चाय-कॉफी) और सोडा जैसी चीजें गैस को बढ़ाती हैं। अगर गैस की समस्या हो तो इनसे बचने की सलाह दी जाती है।

गैस बनना नेचुरल प्रॉसेस, गलत खानपान से बिगड़ता है संतुलन

अब आप समझ गए होंगे कि पेट में गैस बनना एक नेचुरल प्रॉसेस है; जो खाने को पचाने के लिए जरूरी है। डॉक्टर्स के मुताबिक एक स्वस्थ आदमी दिन में 14 से 20 बार गैस पास करता है। लेकिन दिक्कत तब हो जाती है, जब हमारे खाए हुए फूड या ड्रिंक्स गैस बनने की दर को बढ़ा देते हैं।

  • जिससे अपच, मितली, दर्द ऐंठन और उल्टी की भी समस्या हो सकती है।

खाना न खाने या ज्यादा खाने से भी बन सकता है गैस

आपने जाना कि हमारे शरीर में नेचुरली गैस बनती रहती है जब हम काफी देर तक कुछ नहीं खाते तो पेट में गैस बढ़ती चली जाती है। दूसरी ओर बार-बार या ज्यादा खाना खाने से भी पेट में गैस बढ़ जाती है।

तेजी से खाने पर पेट में चली जाती है बाहर की हवा

कई लोगों को संतुलित और सही खाने के बाद भी गैस की समस्या होती है। ऐसा जल्दबाजी में खाने की वजह से भी हो सकता है। तेजी में खाने के चलते निवाले के साथ बाहर की हवा भी पेट में चली जाती और वहां फंस जाती है जो गैस की समस्या की वजह बनती है।

इन आदतों से सही रहेगा पेट का प्रेशर

डाइटीशियन कोमल सिंह बताती है कि सही खान पान के सहारे गैस की समस्या को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है गैस होने पर रोटी की जगह चावल या खिचड़ी और दूध की जगह दही खाना शुरू करें। मौसमी फल और कम तेल मसाले में पकी सब्जिया भी फायदेमंद हैं। तले-भूने और मसालेदार खाने से दूरी बनाएं।

आपने यह ख़बर पढ़ी – Goodupdatetak
आप यह भी पढ़े – Goodupdatetak

Comments are closed.

Translate »
× Connect with us for Daily Update